एग्जाम सेंटर से कैसे कमाई होती है व उसके लाभ तथा हानि


1 दिन  मैं इंटरनेट  पर अपने एग्जाम के लिए अपने एग्जाम सेंटर की लोकेशन चेक कर रहा था तभी इंटरनेट पर एग्जाम सेंटर (Exam center) ओपन करने से रिलेटेड कई ऐसे तथ्य सामने आए जिनको देखकर मैं पढ़े बिना नहीं रह पाया| मुझे पता चला कि बड़ी-बड़ी एग्जाम देने के लिए अलग तरह के डिवाइस यूज किए जाते हैं| जो डिवाइस यूज किए जाते हैं वह काफी महंगे होते हैं उनमें से मुझे सबसे  कम कीमत का एक एक्जाम डिवाइस मिला जिसका नाम था एग्जामिनर डिवाइस (Examiner device) , एग्जामिनर डिवाइस के बारे में मैंने इंटरनेट पर पता किया और मुझे पता चला कि यहां, TSSE ,JET, आदि एग्जाम्स को सपोर्ट करता है|

लाभ

  • इसमें आर्यभट्ट 4  सॉफ्टवेयर डाला होता है|  जो की नई तकनीक पर आधारित है इसे परचेस करने की जरूरत नहीं होती है यहां इसी में ही इंस्टॉल  आता है| यदि अगर हम Windows को इस्तेमाल करेंगे तो उसने छापा पड़ने का डर रहता है और Windows को खरीदने के लिए 8000 देने पड़ते हैं एक सिस्टम के लिए.
  • इसमें  यूज़ करने के लिए हमें कोई बिजली की जरूरत नहीं होती है और ना ही जनरेटर और ना ही कोई इनवर्टर यह ऑटोमेटिक बैटरी पर आधारित होता है| और पूरी तरह से  सिक्योर होता है|इसमें नकल जैसी कोई शिकायत नहीं आती |
  • यहां बड़े एग्जाम को सपोर्ट करता है जैसे : JET,TSSE, PSU , यह एक छोटे एग्जाम में एग्जाम बोर्ड  पर उम्मीदवार 50  से 100 रुपए देती है| किन्तु जब हम इस डिवाइस का उपयोग करते हैं तो हमें एक उम्मीदवार पर एग्जाम बोर्ड 400  से 500  रुपए देती है|
  • यहां शेयर इट के सिद्धांत पर काम करता है इस वजह से  इस डिवाइस में इंटरनेट का कोई खर्चा नहीं इंटरनेट का लाखों रुपए का खर्चा बच जाता है|

  हानि

  • एग्जामिनर डिवाइस विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम को सपोर्ट नहीं करता|
  • यह काफी महंगा होता है|
  • इसमें बैटरी होती है जिसे  चार्ज करना पड़ता है|
  • यहां  छोटे एग्जाम को सपोर्ट नहीं करता|
  • यहां इंटरनेट व्यवस्था पर आधारित नहीं होता|

Have any Question or Comment?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *